• वर्तमान पोस्ट

    मंगलवार, 14 फ़रवरी 2017

    जिम प्रशिक्षक, डायटिशियन एवं काउन्सलर के रूप में बनाये कैरियर

    आज-कल विशेष कर शहर के युवाओं में जिम (GYM) के प्रति रुझान काफी बढ़ा है। इसके साथ-साथ शहर के पुरुष एवं महिलाएं भी स्वस्थ्य के प्रति जागरूक हो रहें है और अपने आपको स्वस्थ रखने के लिए अपने व्यस्त दिनचर्या से समय निकाल कर जिम की ओर रुख करने लगे हैं। इसके परिणाम स्वरूप आज हर शहर में जिमों (Gym) की संख्या बढ़ती जा रही है साथ ही साथ जिम प्रशिक्षकों (GYM Trainer) कि मांग भी बढ़ने लगी  है। अमीर हो या गरीब सभी फिट रहना चाहते हैं। इस कारण जिम स्थायी कैरियर विकल्प और व्यवसाय के आकर्षक अवसर के रूप में उभरा है जिससे इस क्षेत्रों में रोजगार के अवसर भी बढ़ रहे हैं। आज जिम के ब्रांडेड सेंटर देश के हर छोटे बड़े शहरों में संचालित हो रहे हैं। इसमें युवा बतौर ट्रेनर कैरियर बना रहे हैं। यदि आपके पास जिम संबन्धित विस्तृत जानकारी है, तो इसके उपकरणों के प्रोवाइडर के रूप में आप अच्छी कमाई (earn money) कर सकते हैं।


    आज जिम केवल एक फिटनेस सेंटर है नहीं है बल्कि यह एक अच्छा रोजगार का साधन भी बनता जा रहा है। जहां आप अपने शरीर को फिट रखने के साथ - साथ अपना कैरियर भी बना सकते हैं। एक जिम सेंटर में आप कई रूप में रोजगार प्राप्त कर सकते है जैसे - जिम ट्रेनर, फिटनेस एक्सपर्ट, फिटनेस काउन्सलर एवं डायटिशियन आदि। 
    जिम प्रशिक्षक के रूप में कैरियर (Career as Gym Trainer in hindi)

    ट्रेनर: हर जिम में एक ट्रेनर होता है जिसके भूमिका सबसे महत्वपूर्ण होता है। एक अच्छा प्रशिक्षक ही जिम में स्थित उपकरणों के सही प्रयोग बता सकता है। एक अच्छा प्रशिक्षक बनने के लिए आप के अंदर कुछ व्यक्तिगत गुण का होना अवश्यक है। इनमें संबसे महत्वपूर्ण है आपका जिम के प्रति रुचि होना। इसके अलावा आपको जिम से संबन्धित कुछ प्रोफेशनल ट्रेनिंग (Gym trainer professional course) भी लेनी होगी। इस तरह की ट्रेनिंग आजकल कई मेट्रो सिटी में करायी जाती है। ट्रेनिंग लगभग डेढ़ से तीन महीने कि दी जाती है। इसमें कस्टमर को ध्यान में रखते हुए उन्हें किस तरह कि ट्रेनिंग लेनी है, बताया जाता है। इसके अलावा अन्य जिम उपकरणों संबंधी महत्वपूर्ण जानकारियाँ दी जाती है।

    डायटिशियन के रूप में कैरियर (Career as Dietitian in hindi)

    डायतिशियन: जिम करने वालों के लिए किस तरह का भोजन होना चाहिए इसका भी ध्यान देने की आवश्यकता होती है। जिम करने वाले लोगों कि उम्र, हाइट, वेट आदि का ध्यान रखते हुए उसके डाइट प्लान किया जाता है। यह डाइट प्लान डायतिशियन उपलब्ध कराते हैं।  डायतिशियन बनने के लिए प्रोफेशनल कोर्स करने होते हैं।

    जिम काउन्सलर के रूप में कैरियर (Career as Gym Counselor in hindi)

    काउन्सलर: जिम में काउन्सलर कि भूमिका सर्वाधिक महत्वपूर्ण होती है। यह आपको जिम संबंधी सही जानकारी और आपके लिए सही एक्सरसाइज सजेस्ट करता है। साथ ही वह यह भी बताता है कि एक्सरसाइज के द्वारा किस तरह कि बीमारियों को नियंत्रित किया जा सकता है।

    कोई टिप्पणी नहीं:

    एक टिप्पणी भेजें